Don't Miss
Home / घरेलू नुस्खे / Catarrh, Cold and Cough

Catarrh, Cold and Cough

Cold, Catarrh and Cough, सर्दी, जुकाम और खांसी.
4
चिकित्सा :
1) इलायची :
इलायची को पीसकर रूमाल पर लगाकर सूंघने से सर्दी, जुकाम और खांसी ठीक हो जाती है।
2) अदरक :
10 ग्राम अदरक को काटकर लगभग 200 मिलीलीटर
गर्म पानी में उबालकर एक चौथाई रह जाने पर छान लेते हैं। इसे खांड मिले एक कप कम गर्म दूध में मिलाकर सुबह-शाम सेवन करने से खांसी, जुकाम और खांसी नष्ट हो जाती है।
3) जायफल :
जायफल पिसा हुआ एक चुटकी मात्रा में लेकर दूध में मिलाकर लेने से सर्दी का असर ठीक हो जाता है। इसे सर्दी में सेवन करने से सर्दी नहीं लगती है।
4) छोटी पीपल : 20 ग्राम छोटी पीपल और 5 ग्राम अतीस को कूटकर और छानकर लगभग आधा-आधा ग्राम की मात्रा में शहद के साथ मिलाकर सुबह-शाम सेवन करने से खांसी नष्ट हो जाती है।
5) चाय :
यदि सर्दी के कारण जुकाम,
सिरदर्द , बुखार तथा खांसी हो, आंख से पानी निकलता हो या पतला झागदार श्लेष्मा (कफ, बलगम) नाक से निकलता हो तो चाय पीना लाभदायक होता है। इससे ठंड़ दूर होकर पसीना आता है तथा सर्दी में आराम मिलता है। यदि जुकाम खुश्क हो जाए, कफ गाढ़ा, पीला बदबूदार हो और सिरदर्द हो तो चाय पीना हानिकारक होता है।
6) मेथी :
मेथी के पत्तों की सब्जी को सुबह-शाम खाने और बीजों को 1 चम्मच मात्रा में गर्म दूध के साथ सेवन करने से सर्दी-जुकाम के सारे कष्टों में आराम मिलता है।
7) कलौंजी :
कलौंजी के बीजों
को सेंककर और कपड़े मे लपेटकर सूंघें। साथ ही थोड़े-थोड़े अन्तर से कलौंजी का तेल और जैतून का तेल बराबर की मात्रा में थोड़ा-सा मिलाकर नाक में टपकाएं।
8) कपूर :
कपूर की एक टिकिया को रूमाल में लपेटकर बार-बार सूंघने से आराम मिलता है और बन्द नाक खुल जाती है।
9) गोमा (द्रोणपुष्पी) :
द्रोणपुष्पी का रस नाक में 2-2 बूंद डालने और इसका रस सूंघने से सर्दी, जुकाम और खांसी में आराम मिलता है।
10) केसर :
केसर को दूध में घोटकर 3 बार नियमित रूप से कुछ दिनों तक पीने से सर्दी, जुकाम और खांसी में लाभ होता है।
11) खजूर :
खजूर को एक गिलास दूध में अच्छी तरह उबालें। फिर खजूर को खाकर ऊपर से वही दूध पीकर मुंह ढ़क्कर सो जायें। इससें सर्दी, जुकाम व खांसी में जल्दी लाभ मिलता है।
12) पोदीना :
सर्दी-जुकाम में पुदीने के रस की 1 बूंद दिन में 3-4 बार नाक में डालने से लाभ मिलता है।
13) नींबू :
गुनगुने पानी में नींबू को निचोड़कर पीने से जुकाम ठीक हो जाता हैं। एक गिलास उबलते हुए पानी में एक नींबू और शहद मिलाकर रात को सोते समय पीने से भी जुकाम में लाभ मिलता है।
पके हुए 20 नींबू को लेकर कलई वाली कड़ाही में उनका रस निकाल दें। फिर उसमें 400 ग्राम शर्करा डालकर शहद की भांति गाढ़ा बना लें। बाद में उसमें 1 ग्राम इलायची के दाने का चूर्ण डालकर बोतल में भकर मजबूत डॉट को लगाकर रख दें और प्रत्येक सप्ताह उसे छानते रहें। यह सिरका पित्त ओर खांसी को नष्ट करता है और भूख को बढ़ाता है।
14) कालीमिर्च :
आधा चम्मच कालीमिर्च के चूर्ण और एक चम्मच मिश्री को मिलाकर एक कप गर्म दूध के साथ दिन में 3 बार सेवन करने से सर्दी-जुकाम में लाभ होता है।
रात को 10 कालीमिर्च चबाकर उसके ऊपर गर्म दूध पीने से जुकाम में लाभ होता है।
6 ग्राम कालीमिर्च को पीसकर 30 ग्राम गुड़ या शक्कर और 60 ग्राम दही के साथ मिलाकर सुबह-शाम 5 दिन सेवन करने से बिगड़ा हुआ जुकाम ठीक हो जाता है और फिर कभी दोबारा नहीं आता है।
कालीमिर्च और बताशे को पानी में उबालकर पीने से जुकाम ठीक हो जाता है और दिमाग भी हल्का होता है।
जुकाम और खांसी हो तो कालीमिर्च को पीसकर शहद मे मिलाकर चाटना लाभदायक होता है।

Leave a Reply